अंशिका चौहान- शराबबंदी वाले राज्य बिहार के विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें मिलने पर राजनीतिक हंगामा शुरू हो गया है. इसके बाद CM नीतीश कुमार ने सख्त आदेश दिए हैं. उन्होंने विधानसभा में कहा, ”इस चीज़ को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. हम मुख्य सचिव और DGP को इस पर कार्रवाई करने के लिए कहेंगे. अगर यहां शराब की बोतल आई है तो इसका मतलब कोई गड़बड़ कर रहा है और उसको छोड़ना नहीं चाहिए. सूखे बिहार में मंगलवार को विधायिका के परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलीं, नीतीश कुमार सरकार के लिए एक नई शर्मिंदगी में, जो हाल ही में हुई जहरीली त्रासदियों में 40 से अधिक लोगों की जान लेने का दावा कर रही है। दोपहिया वाहनों के लिए पार्किंग स्थल के रूप में चिह्नित क्षेत्र में एक पेड़ के नीचे बोतलें मिलीं। सीएम नीतीश कुमार, जिनके पास गृह विभाग भी है, ने सदन को सूचित किया कि घटना को गंभीरता से लिया गया है और चूक के लिए जिम्मेदार लोगों को कड़ी सजा का सामना करना पड़ेगा लेकिन नीतीश कुमार ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि शराब को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ डालेंगे तो हम नहीं पढ़ेंगे. चिट्ठी जब मिल जाए तब हम पढ़ेंगे. इसपर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि हम खुद देख कर आएं हैं. डिजिटल जमाना है आपको टैग कर दिया जाता है.

तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर साधा निशाना

bihar

RJD नेता तेजस्वी यादव ने 30 नवंबर को राज्य विधानसभा से शराब की बोतलें बरामद होने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को फटकार लगाई. उन्होंने मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘बिहार विधानसभा के अंदर शराब की बोतल कहां से आई? मुख्यमंत्री स्वयं निरीक्षण करें. हमने शराब माफिया के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर देखी है. नीतीश कुमार के मंत्री अपराध करने के लिए स्वतंत्र है. सीएम को अपना इस्तीफा दे देना चाहिए और बिहार के लोगों से माफी मांगनी चाहिए.’

नीतीश ने कहा अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा

बिहार विधानसभा को संबोधित करते हुए, 30 नवंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने परिसर में मिली शराब की बोतलों की निंदा की और कहा, “मैंने उनसे (डिप्टी सीएम) पूछा, उन्होंने कहा कि इस परिसर में कहीं शराब की बोतलें मिलीं. यह बेहद खराब है. यह कैसे बर्दाश्त किया जा सकता है? मैं स्पीकर के सामने यह कहता हूं, अगर वह अनुमति देते हैं तो मैं आज ही सभी को इसकी जांच करने के लिए कहूंगा.’ उन्होंने कहा, ‘मैं मुख्य सचिव और डीजीपी से जांच कराने के लिए कहूंगा. यहां बोतलें आ जाएं तो यह कोई सामान्य बात नहीं है. ऐसा करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा. सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए.’